CBSE Board Exam 2024: बड़ी खबर सीबीएसई बोर्ड कक्षा 10वीं और 12वीं के छात्रों को अब एग्जाम में साल में दो बार बैठना जरूरी नहीं यहां देखें क्या है पूरीअपडेट

CBSE Board Exam 2024: आज के आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं सीबीएसई बोर्ड एग्जाम के बारे में सीबीएसई बोर्ड एग्जाम अब साल में दो बार परीक्षा में बैठना जरूरी नहीं है छात्रों के लिए एक बहुत बड़ी अपडेट निकाल कर आए हैं सीबीएसई बोर्ड कक्षा 10वीं और 12वीं के छात्रों के लिए बहुत बड़ी खबर अब केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड कक्षा 10वीं और 12वीं एग्जाम साल में दो बार आयोजित किए जाएंगे लेकिन एक इंटरव्यू के दौरान इसमें उसकी पूरी जानकारी विस्तार से बताइए गई है.

सीबीएसई बोर्ड कक्षा 10वीं और 12वीं छात्रों के लिए बहुत बड़ी अपडेट निकल कर आ रही है हाल ही में केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र सिंह प्रधान ने बताया है कि छात्रों के लिए कक्षा 10वीं और 12वीं एग्जाम साल में दो बार अब परीक्षार्थियों को शामिल होना जरूरी नहीं है एक अक्षर के डर से होने वाले तनाव को कम करने के उद्देश्य से यह विकल्प पेश किया गया है पीटीआई को दिए इंटरव्यू के दौरान कहा है कि डेमी स्कूलों के मध्य को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता लेकिन इस पर गंभीर चर्चा करने का समय आ गया है उन्होंने कहा है कि विद्यार्थियों के पास इंजीनियर प्रवेश परीक्षा की तरह साल में दो बार कक्षा 10वीं और 12वीं की बोर्ड एग्जाम में बैठने का विकल्प होगा एग्जाम में अपना सर्वश्रेष्ठ स्कोर सकते हैं लेकिन यह पूरी तरीके से होगा इसीलिए इसे लेकर कोई भी नहीं होगी.

तनाव ग्रस्त नहीं रहे छात्र

छात्र अक्षर यह सोचकर तनाव में आ जाते हैं कि उनका एक साल बर्बाद हो गया है उनका मौका चला गया है वह अब बेहतर प्रदर्शन नहीं कर सकते लेकिन एक अक्षर के दर से होने वाले तनाव को कम करने के लिए अब विकल्प पेश किया गया जा रहा है कि केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा है यदि किसी छात्र को लगता है कि वह पूरी तरीके से तैयार है तो एग्जाम के पहले सेट में प्राप्तांक से संतुष्ट है तो वह अगली एग्जाम में शामिल न होने का विकल्प भी चुन सकता है तथा कुछ भी अनिवार्य कुछ भी जरूरी नहीं होगा.

साल में दो बार कराई जाएंगी परीक्षा (CBSE Board Exam 2024)

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा अगस्त में घोषित किए गए नए सिलेबस के अनुसार बोर्ड एग्जाम नव साल में दो बार आयोजित किए जाएंगे यह सुनिश्चित किया जा सकेगा के छात्रों के पास अच्छा प्रदर्शन करने के लिए काफी समय और अफसर है उनके सर्वश्रेष्ठ अंक करने का विकल्प मिल सकेगा साथ ही उन्होंने बताया कि साल में दो बार परीक्षा आयोजित की जाएंगी पर उन्हें छात्रों से सरकार मुक्ता प्रतिक्रिया मिली है अब छात्र अगर पहले एग्जाम से ही संतुष्ट होंगे तो छात्रों को दोबारा एग्जाम नहीं देना होगा जो छात्र पहले एग्जाम से संतुष्ट नहीं है वह दोबारा एग्जाम दे सकते हैं.

Leave a Comment